Namak ka daroga summary in hindi

Namak ka daroga summary in hindi

नमक का दारोग (साल्ट इंस्पेक्टर) पौराणिक भारतीय लेखक मुंशी प्रेमचंद की एक छोटी सी कहानी है। कहानी का मुख्य विषय ईमानदारी की कीमत है। कहानी ब्रिटिश युग के दौरान स्थापित की गई है, उन दिनों नमक पर भारी कर लगाया गया था और लोगों ने सचमुच भारी मुनाफा कमाकर इसे तस्करी शुरू कर दी थी। Namak ka daroga summary in hindi

Namak ka daroga summary in hindi

वांशीधर एक मामूली मध्यम श्रेणी के परिवार से एक युवा व्यक्ति है। उनके पिता का मानना है कि कम वेतन के अलावा अतिरिक्त आय भगवान से एक आशीर्वाद है। और यह अतिरिक्त आय उन सभी वित्तीय चिंताओं को दूर कर सकती है जिनके साथ वे सामना कर रहे हैं। अपने पिता की सलाह पर, वांशीधर सरकार के नमक विभाग में नमक निरीक्षक का काम लेते हैं। हालांकि उनके पिता ने उन्हें रिश्वत स्वीकार करने के लिए कहा था, लेकिन वह एक ईमानदार व्यक्ति, एक ईमानदार अधिकारी बने रहना पसंद करते थे।

Namak ka daroga summary in hindi

यमुना नदी पर एक पुल पर एक रात, वांशुधर तस्करी के उद्देश्य के लिए पुल पार करने वाले वाहनों की दृष्टि पकड़ता है। वह ऑब्जेक्ट करता है और फिर मालिक पंडित एलोपोडिन उसे जाने के लिए भारी कीमत प्रदान करता है, लेकिन वांशुधर अपने फैसले पर अशिष्ट बना रहता है। उन्हें पेश किए जाने वाले पैसे के बजाय, वह एक ईमानदार सरकारी अधिकारी बनना चुनता है। पंडित अलोपोडिन स्थानीय जनता और सरकारी अधिकारियों पर अत्यधिक प्रभाव वाले एक बहुत अमीर व्यक्ति हैं, हालांकि यह एक अलग कहानी है कि वांशुधर उनके द्वारा राजी नहीं हुए थे। उन्होंने पंडित अलोपोडिन को गिरफ्तार किया।

Namak ka daroga summary in hindi

मुकदमे की उम्मीद के अनुसार, पंडित अलोपोडिन ने न्यायपालिका को रिश्वत दे दी और बदले में वांशुधर को अपनी आधिकारिक शक्ति दिखाकर उनके साथ गलत व्यवहार करने के आरोपों में स्थानांतरित कर दिया गया। यह घटना वांशीधर की ईमानदारी और अखंडता को कम करती है, इस प्रकार वह दुखी घर लौटता है। उनके पिता बिल्कुल उससे खुश नहीं हैं। उन्होंने उनसे रिश्वत लेने और समृद्ध होने की उम्मीद की, लेकिन उन्होंने सिर्फ विपरीत ही किया।

Namak ka daroga summary in hindi

अप्रत्याशित रूप से एक अच्छा दिन, पंडित एलोपोडिन अपने घर पहुंचे और उन्हें बंगला, नौकर और अन्य लाभ जैसे भत्ते के साथ अपनी संपत्ति के प्रबंधक की स्थिति प्रदान करता है। कहानी का अंत थोड़ा अनुमान लगाया गया था लेकिन यह संदेश बहुत मजबूत है। लोगों को विश्वास करने की जरूरत है कि ईमानदारी का भुगतान करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *