Om banna story in hindi

आपने भारत मे देवताओ मे आस्था पशु ,पक्षियों ,मूर्तियों के रूप मे देखी होगी। लेकिन अगर हम कहे कि राजस्थान मे एक जगह है जहाँ बुलेट की पूजा होती है। हाँ ये सत्य है ये चमत्कारी कहानी है “Om banna story in hindi “।

लोग अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए यहाँ आते है । ओम बन्ना की मोटरसाइकिल ने अपना चमत्कार सिर्फ लोगो को ही नही बल्कि वहाँ के पुलिसवालो को भी दिखा दिया।
आज जब भी कोई पुलिसकर्मी ड्यूटी करने आता है तो “Om banna की bullet” के आगे अपना सर झुका के सजदा करता है। Om banna story in hindi

जोधपुर से पाली जाने वाले रास्ते पर आपको एक बोर्ड नजर आएगा दुर्घटना संभावित छेत्र। यही पर आपको ओम बन्ना की बुलेट खड़ी मिलेगी। आस पास मैं 20 से 30 दुकाने प्रसाद से सजी होंगी। और चबूतरे पर खड़ी बुलेट के चारो तरफ श्रद्धालु मनोकामना कर रहे होंगे।
ओम बन्ना की बुलेट की मान्यता की वजह से ये स्थान “ओम बन्ना ” के नाम से जाना जाता है।
ये कहानी है ओम सिंह राठौर की जिनके पिता का नाम जोग सिंह राठौर था। Om banna story in hindi

Om banna bullet story in hindi

Om banna के गांव का नाम chotila था जो कि पाली शहर के पास है।एक बार जब ओम बन्ना अपनी बुलेट बाइक से जा रहे थे।तो सड़क दुर्घटना मे उनकी मौत हो गयी। ये दुर्घटना उसी स्थान पर घटी जहा अक्सर दुर्घटना होती थी इसलिए इस स्थान को दुर्घटना संभावित छेत्र भी कहा जाता था। दुर्घटनावश ओम बन्ना की मृत्यु हो गयी और पुलिस कार्यवाही के लिए उनकी बुलेट को पास के थाने ले जाया गया। Om banna story in hindi

लेकिन अब जो घटना घटित हुई उसने सबको चौंका दिया मोटर साइकिल थाने से गायब हो कर दुर्घटना स्थल पर खड़ी मिली। फिर तो मानो ये सिलसिला सा बन गया पुलिसवाले बुलेट थाने ले के जाए और बुलेट सुबह पेड़ के नीचे मिले । इस आश्चर्यजनक प्रणाली को देखकर पुलिस और ओम बन्ना के पिता ने एक चबूतरे पर बुलेट को वही खड़ा कर दिया।
हैरानी के बात ये है उसके बाद वहाँ होने वाले हादसों की संख्या मानो खत्म ही हो गया।
ओम बन्ना की बुलेट की गरिमा से लोग प्रभावित होने लगे और मान्यता के अनुसार ओम सिंह बन्ना की आत्मा लोगो को सतर्क करती है। जो भी वहान तेज गति से जा रहे होते है ।अपने आप वो सतर्क हो जाते है। Om banna story in hindi

मरने के बाद भी ओम बन्ना की आत्मा के अच्छे इरादों ने लोगो को उनकी पूजा करने लगे। लोगो की श्रद्धा इस कदर बढ़ गयी कि श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती लोग वहां आकर अपनी श्रद्धा प्रकट करते है।और मोटरसाइकिल से अपनी मन्नत मांगते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *