Prince and cinderella story in hindi written

एक बार की बात है।एक बहुत ही सुंदर लड़की थी सिंडरेला । सिंडरेला की दो सौतेली बहने थीं जो कि बहुत बदसूरत थी पर घमंडी भी थी।वो अपनी माँ के साथ मिलके सिंडरेला से सारा काम करवाती थी।बेचारी सिंडरेला झाड़ू लगाती थी ।पोछा लगाती थी और उसकी बहने अच्छे अच्छे कपड़े पहनकर खूब पार्टिया करने जाती थी।

cinderella story in hindi written

एक दिन बहुत ही महत्त्वपूर्ण संदेश आया सिंडरेला के घर।वो संदेश राज भवन से था। राजा का बेटा जो बहुत ही सुंदर था उसने एक पार्टी का प्रबंधन किया है। शहर की सारी लड़कियां पार्टी मे आमंत्रित है। सिंडरेला को पता था उसकी बदसूरत बहने कभी भी उसे पार्टी मे जाने नही देंगी।और खुद सज सवरकर पहुंच जायेंगी । cinderella story in hindi written

पार्टी का वो दिन आ गया जिसका सबको इंतेज़ार था। सिंडरेला ने अपनी बहनो की तैयार होने मे मदद की । उनके लिए सिंडरेला ने गहने ,कपड़े आदि का इंतज़ाम किया। काफी मेहनत से उनके बाल सावरे।उनके पार्टी मे जाने के बाद मायूस सिंडरेला ने कहा कि “काश मे भी पार्टी मे जा पाती”
सिंडरेला के इतना कहते ही उसके पास मे एक परी प्रकट हुई। परी के हाथ मे जादुई छड़ी थी।
परी ने कहा तुम पार्टी मे जरूर जा पाओगी।पर उससे पहले तुम्हे बगीचे से एक कद्दू, 6 चूहे , 6 छिपकली लानी होगी। cinderella story in hindi written
जैसे परी ने कहा सिंडरेला एक कद्दू और बाकी चीजे तोड़ लायी ।परी ने अपनी जादुई छड़ी घुमाई और कद्दू एक सुंदर सी बग्घी मैं तब्दील हो गया।परी ने जादू से सिंडरेला के पुराने कपड़ो को चमचमाते नए कपड़ो मे बदल दिया। cinderella story in hindi written

साथ ही परी ने चेतावनी दी कि तुम्हे 12 बजे से पहले घर वापस आना होगा ।ठीक 12 बजते ही सारा जादू खत्म हो जाएगा और चीजे वापस अपने मुख्य रूप मे आ जाएंगी।
जब सिंडरेला पार्टी मैं पहुंची तो सभी भौचक्के रह गए ।कि ये कौन है उसकी सौतली बहने भी सिंडरेला के इस रूप को देख कर हैरान हो गयी। cinderella story in hindi written

सिंडरेला की सुंदरता देखकर सभी हैरान हो गए यह तक कि राजकुमार भी उसकी सुंदरता पे मोहित हो गया।और उसके साथ नृत्य करने लगा।पार्टी की खुशियों मे सिंडरेला परी की चेतावनी को भूल गयी।
घड़ी का घंटे बजते ही सिंडरेला वहाँ से भागी ।भागते हुए सिंडरेला का जूता वहाँ रह गया ।
सिंडरेला तो भाग के वापस आ गयी पर राजकुमार ने ज़िद पकड़ ली कि वो शादी उसी से करेगा जिसके पैरो मे जूता फिट होगा। अगले दिन राजकुमार सभी के घर गया और जूता पहना के देखने लगा। cinderella story in hindi written

फिर राजकुमार सिंडरेला के घर पहुंचा।वह सिंडरेला की दोनो बहनो ने जबरजस्ती पैर को जूते मैं फ़साना चाहा। पर जूते मैं कह उनके मोठे पैर आते।
उसके बाद सिंडरेला ने अपना पैर जूते मे डाला और फिट हो गया।
राजकुमार ने सिंडरेला को गोद मे उठा लिया और सिंडरेला से शादी करने के लिए पूछने लगा।
उसके बाद शादी हुई।पार्टी हुई खूब नाच गाना हुआ। खूब जश्न हुआ और इस तरह सिंडरेला की कहानी खत्म हो गयी। cinderella story in hindi written

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *